Tagged “sadhana”

 January 4, 2021 

शिवानंद दास जी के मार्गदर्शन मे

पंचागुली साधना शिविर- वज्रेश्वरी

PANCHANGULI SADHANA SHIVIR- VAJRESHWARI

(Sat+Sun) 27th-28th Feb. 2021 at Vajreshwari near mumbai.

Mata Panchaguli is considered to be the goddess of Panchag and Kaalgyan. This sadhana increases the ability to understand the nature of the person.. The ability to do spiritual healing in them increases. They must do their work which ...

Astrology - Numerology - Ramal Science - Spiritual Healing - Prayer reciters - Tantra Mantra worshipers - It is considered mandatory for the sadhak to do Panchanguli Sadhana. Apart from this, this practice is also necessary for such people, whose job is to meet people or new people come to meet them. In this, the knowledge of the nature of the person in front is less deceiving.

In this shivir, there will be a ritual of chanting from 125000 to 550000. Taking part in it is no less fortunate. Therefore, one must definitely get experience by participating in this camp!

माता पंचागुली पंचाग की व कालज्ञान की देवी मानी जाती है. इनकी साधना से ब्यक्ति के अंदर सामने वाले के स्वभाव को समझने की क्षमता बढ जाती है. इनके अंदर अध्यात्मिक उपचार करने की क्षमता बढ जाती है. इनकी साधना उन्हे अवश्य करनी चाहिये जो ...

ज्योतिष - नंबरोलोजी- रमल विज्ञान-अध्यात्मिक उपचार- पूजा पाठ करने वाले- तंत्र मंत्र उपासक- साधक के लिये पंचांगुली साधना करना अनिवार्य माना जाता है. इसके अलावा ऐसे लोगो के लिये भी यह साधना जरूरी है जिनका काम ही लोगो से मिलना होता है या नये नये लोग उनसे मिलने के लिये आते है. इसमे सामने वाले ब्यक्ति के स्वभाव की जानकारी होने धोका कम मिलता है.

 इस शिविर मे १२५००० से लेकर ५५०००० तक जप हवन का अनुष्ठान होगा. इसमे भाग लेना किसी सौभाग्य से कम नही है. इसलिये एक बार अवश्य जरूर इस शिविर मे भाग लेकर अनुभव जरूर प्राप्त करे!

PANCHANGULI SADHANA SHIVIR BOOKING

Pickup point-(8am) Hotel Hardik place, opp mira road railway station east. Mira road.

Shivir Location- https://goo.gl/maps/AWUTZNAyjky

Fees 8000/- Including- Sadhana samagri (Siddha Panchanguli Yantra, Siddha, Panchanguli mala, Siddha Panchanguli parad gutika, Panchanguli asan, Siddha Chirmi beads, Gomati chakra, Tantrokta nariyal, siddha kaudi, Siddha Rakshasutra and more.) + Panchanguli Diksha by Guruji+ Room Stay with Complementary Breakfast, Lunch, Dinner. (Husband-wife 12000/-) (Pay 1000/- booking and balance pay on shivir)

Call for booking-91 7710812329/ 91 9702222903

 December 6, 2020 

विपरीत प्रत्यंगिरा साधना शिविर वज्रेश्वरी

(Sat+Sun) 2- 3 Jan.21.at Vajreshwari near mumbai

Viparit Pratyangira is considered a powerful force, it immediately sends back any kind of Jealousy, blackmagic or any kind of negative energy coming by the enemy. Because of this, enemies slowly stop harassing.

बिपरीत प्रत्यंगिरा एक शक्तिशाली शक्ति मानी जाती है ये शत्रु के द्वारा आने वाली किसी भी प्रकार की नजर, तंत्र, ब्लैकमजिक या किसी भी प्रकार का नकारात्मक उर्जा को तुरंत वापस भेज देता है. इसकी वजह से धीरे धीरे शत्रु परेशान करना बंद कर देते है.

इस साधना के द्वारा ब्यक्ति अपने परिवार को हर तरह की बाधा से सुरक्षित कर लेता है.

इस शिविर मे १२५००० से लेकर ५५०००० तक जप हवन का अनुष्ठान होगा. इसमे भाग लेना किसी सौभाग्य से कम नही है. इसलिये एक बार अवश्य जरूर इस शिविर मे भाग लेकर अनुभव जरूर प्राप्त करे!

VIPREET PRATYANGIRA SADHANA BOOKING

Pickup point-(8am) Hotel Hardik place, opp mira road railway station east. Mira road.

Shivir Location- https://goo.gl/maps/AWUTZNAyjky

Fees 8000/- Including- Sadhana samagri (Siddha Pratyangira Yantra, Pratyangira mala, Siddha Pratyangira suraksha gutika, Pratyangira asan, Pratyangira shrangar, Siddha Chirmi beads, Gomati chakra, Tantrokta nariyal, siddha kaudi, Siddha Rakshasutra and more.) + Pratyangira Diksha by Guruji+ Room Stay with Complementary Breakfast, Lunch, Dinner. (Husband-wife 12000/-) (Pay 1000/- booking and balance pay on shivir)

Call for booking-91 7710812329/ 91 9702222903

 February 13, 2014 
होली या दीपावली पर किये जाने वाले समृद्धि कारक साधना
 
  sadhanaमंत्र सिद्ध और प्राण प्रतिष्ठित एकाक्षी नारियल साक्षात लक्ष्मी का प्रतीक होता है। चैकी पर लाल वस्त्र बिछाकर, लाल या पीले चावल (चंदन एवं हल्दी मिश्रित) आसन पर स्थापित करें। नारियल पर घी
 और सिंदूर का लेप तथा स्वर्ण या रजत वर्क लगाकर मौली लपेटें। फिर गंध, अक्षत, पुष्प, गुलाब, गुग्गुल, दीप और नैवेद्य से उसकी पूजा करें। अब निम्न मंत्र का यथा संभव जप करें ।
 
 समृद्धि कारक साधना मंत्र :-
 
 ॥ श्रीं ह्रीं क्लीं ऐं महालक्ष्मी स्वरूपाय एकाक्षी नारिकेलाय नमः सर्वसिद्धि कुरु कुरु स्वाहा ॥
 
 इसके अतिरिक्त सिद्ध हत्थाजोड़ी, सिद्ध बिल्ली की जेर और सिद्ध सिंयार सिंगी इन तीनों तांत्रिक वस्तुओं को लकडी की डिब्बी या चांदी की एक डिब्बी में रखकर उसे सिंदूर से पूरा भर दें । फिर उसे घर या पूजा कक्ष में रख दें और ३३३ मन्त्र का जाप करे। डिब्बी को ऑफिस या घर मे स्तापित करे। ऐसा करने से घर या व्यापारिक प्रतिष्ठान में किया गया हर तांत्रिक प्रयोग सदा के लिए दूर हो जाएगा और माता लक्ष्मी का वास होगा।