शिवानंद दास जी के मार्ग दर्शन मे

2 DAYS KUNDALINI DHYAN SHIVIR

AT CHANDIGAD

PARASHURAM BHAVAN, SECTOR-37. CHANDIGAD. PUNJAB.

Learn practical kundalini Dhyan by "Acharya Shivanand Das ji"


जीवन मे जिसने भी अपने चक्रो को समझ लिया तो समझो सफलता की कुंजी उसके हाथ मे आ गई. इस शिविर मे इन चक्रो कोे चैतन्य करने की विधि पैक्टिकल रूप मे दीक्षा के साथ सिखाई जाती है. इस शिविर के द्वारा जहा आप अपनी आर्थिक समस्या तथा मानसिक समस्या मे लाभ प्राप्त कर सकते है, वही अध्यात्मिक क्षेत्र मे भी सफलता प्राप्त कर सकते है.

आचार्य श्री शिवानंद दास जी , जो कि पिछले ४० वर्षो से पूरे भारत मे अध्यात्मिक विषय पर यानी ध्यान- प्राणायाम-्कूंडलिनी- अस्ट्रोलोजी- पामेस्ट्री- न्युम्रोलोजी- प्राण विज्ञान- औरा रीडिंग- एस्ट्रल ट्रेवल्स- पैरा नोर्मल- हिप्नोटिझम तथा मंत्र साधना पर शिक्षा प्रदान कर रहे है.
इस शिविर मे भाग लेकर अपने जीवन को एक नई दिशा दीजिये!
FREE ENTRY! FREE ENTRY! FREE ENTRY!
CALL- 91 8652439844 for booking

Mon.-Sun. 11:00 – 21:00
mantravidya@yahoo.com
91 8652439844

Chaturakshar bagalamukhi sadhana

Buy Chaturakshar bagalamukhi sadhana

भगवती बगलामुखी (पीताम्बरा) की साधना मे ( हल्रीं ) होता है। अगर इस बीज मन्त्र को चार अक्षर का मन्त्र बनाकर साधना करे और बिना किसी समस्या के कर लेते हैं, तो बहुत बडी सिद्धि मिल जाती है। कारण यह है कि इस चतुराक्षर बगलामुखी साधना में थोड़ी समस्या का सामना करना ..
In stock (11 items)

$59

चतुराक्षर बगलामुखी साधना

भगवती बगलामुखी (पीताम्बरा) की साधना मे ( हल्रीं ) होता है। अगर इस बीज मन्त्र को चार अक्षर का मन्त्र बनाकर साधना करे और बिना किसी समस्या के कर लेते हैं, तो बहुत बडी सिद्धि मिल जाती है। कारण यह है कि इस चतुराक्षर बगलामुखी साधना में थोड़ी समस्या का सामना करना पड़ता है। समस्या से यहां तात्पर्य भगवती द्वारा ली जाने वाली परीक्षा से है। इस मंत्र में कई बार ऐसी परिस्थिति पैदा हो जाती है कि आपका अनुष्ठान बीच में ही छूट जाये, जैसे कहीं अचानक बाहर जाना पड़ जाये अथवा किसी काम में इतनी अधिक व्यस्तता हो जाये कि उस दिन के निर्धारित जप करने का समय ना मिले इत्यादि, लेकिन साधको को किसी भी परिस्थिति में किसी भी दिन जप नही छोड़ना है। यदि किसी कारण वश बाहर जाना भी पड़ भी जाये तो वही पर जाकर अपना जप पूर्ण करें एवं भगवती से क्षमा प्रार्थना करें । यदि आपने यह अनुष्ठान एक बार पूर्ण कर लिया तो भगवती की कृपा को प्राप्त करने से आपको कोई नही रोक सकता और भगवती बगलामुखी की कृपा का अर्थ है कि प्रत्येक कार्य मे विजय, शत्रु सामने हो या छुपे हो आपको दबा नही पाते। सरकारी अडचने शांत होने लगती है तथा कोर्ट-कचहर मे विजय मिलती है।

चतुराक्षर बगलामुखी साधना मन्त्र

  • OM AAM HLEEM KROM
  • ॐ आं ह्लीं क्रों

चतुराक्षर बगलामुखी साधना सामग्री

  • Siddha Chaturakshar yantra
  • Siddha Bagala mala
  • Siddha Haridra Gutika
  • Siddha asan
  • Rakshasutra
  • Holy threads
  • Chaturakshar Bagalamukhi mantra
  • Chaturakshar Bagalamukhi sadhana methods
  • Siddha Yellow dhoti for sadhak

चतुराक्षर बगलामुखी साधना मुहुर्त

  • Day- Krishna paksha trayodashi, Holi, Diwali, Shivaratri, Ravi pushya nakshatra or any Tuesday
  • Time- after 9pm
  • Direction- south
  • Mantra chanting- 11 rosary
  • Duration- 11 days

See puja/sadhana rules and regulation

See- about Diksha

See- success rules of sadhana

See- Mantra jaap rules

See- Protect yourself during sadhana/puja

Loading